26 Nov 2019by Hariom

ऐसे करें अपने पति को वश में कि आपके सिवा किसी और पर नज़र ना डालें

शादी के बाद पति और पत्‍नी में उतना प्‍यार या अट्रैक्‍शन नहीं रहता जितना कि शादी के 2-3 सालों में होता है। क्‍या आपको भी लगता है कि अब आप दोंनो में भी उतना प्‍यार नहीं रहा और आपके पति किसी दूसरी की ओर आकर्षित हो गए हैं?

क्‍या इसी बात को लेकर आप दोंनो में रोज तकरार होती है? आपके पति फिर से आपको पहले जैसा प्‍यार और अटेंशन देने लगें इसके लिये हम आपको कुछ वशीकरण के खास उपाय बताएंगे, जिसे आप आजमा सकती हैं।

उपाय 1:

शुक्रवार को भगवान श्री कृष्ण की पूजा करें। उसी रात को जब आपके पति सोने के लिये जाएं, तब 3 इलायची को अपने शरीर से स्‍पर्श करा कर उनके पास चुपके से रख दें। अगले दिन सुबह उठ कर उनके लिये खाना बनाएं तो इसी इलायची को उसमें पीस कर डालें और उन्‍हें खिलाएं। इस उपाय को 3-4 हफ्ते तक हर शुक्रवार को करें।

उपाय 2:

नारियल, कपूर और थोड़े धतूरे के बीज को पीसकर उसका पाउडर तैयार कर लें। इसके बाद इसमें थोडा शहद मिलाकर उसका लेप तैयार कर लें। इस लेप को खुद तो लगाएं ही साथ में अपने पति के शरीर पर भी इसे लगाएं। इससे आपका पति हमेशा आपके पास ही रहेगा।

उपाय 2:

रविवार को नहा धो कर तांबे के लोटे में जल, लाल चंदन का लेप, रोली मिश्रित चावल, एक बताशा तथा लाल कनेर का फूल डाल कर सूर्य को जल चढाएं। इसके बाद लाल रंग के आसन पर पूर्व अथवा उत्तर की ओर मुंह करके मूंगे की माला से अग्रांकित मंत्र का जाप करें। मंत्र कुल सवा लाख करने हैं। इससे यह सिद्ध हो जाते है। सूर्य पर जल रोज चढाएं।

उपाय 4:

शनिवार की अर्ध रात्रि में 7 लौंग ले कर उस पर 21 बार अपने पति का नाम लेकर फूंक मारें और अगले रविवार को इनको आग में जला दें। इसका असर 2 स 3 हफ्ते बाद ही दिखेगा।

उपाय 5:

शुक्ल पक्ष के पहले रविवार को प्रात: कालीन बेला में स्नान करने के बाद अपने पूजन स्थल पर आएं। एक थाली में केसर से स्वस्तिक बनाकर गंगाजल से धुला हुआ मोती शंख स्थापित करें। अब गंधक, फूल और बताशे आदि से इसका पूजन करें।

उपाय 6:

आप ऐसा भी कर सकती हैं कि आप दोंनो एक साथ भोजन करें और अपने पति की थाली में खुद की थाली का थोड़ा सा भोजन रख दें। ध्‍यान रहे कि आपके पति को इस बात का पता नहीं चलना चाहिये। ऐसा करने से आपके पति दुबारा आपके वश में हो जाएंगे।

Categories: Totke

Categories

November 2019
M T W T F S S
« Feb    
 123
45678910
11121314151617
18192021222324
252627282930  

Leave a reply